Visit https://www.youtube.com/user/DavidHoffmeister . This set of recordings contains many hours of deep discussions on how to be free of judgment and live a life of trust in Jesus Christ and the Holy Spirit.
DR GURJEE KUMARAN SWAMI’S BEST WISHES FOR THE MUHURAT OF BADHAAI HO BETI HUI HAI AT RANCHI

DR GURJEE KUMARAN SWAMI’S BEST WISHES FOR THE MUHURAT OF BADHAAI HO BETI HUI HAI AT RANCHI

रांची, 10.07.2019, सनातन वर्ल्ड प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमटेड के बैनर तले बन रही है फ़िल्म “बधाई हो, बेटी हुई है” फ़िल्म का मुहूर्त बुधवार को रांची में  किया गया। फ़िल्म का मुहूर्त राज्य के पर्यटन, कला संस्कृति, खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग के मंत्री अमर कुमार बाउरी ने क्लैप कर किया।

इस मौके पर पर्यटन, कला संस्कृति, खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग के मंत्री अमर कुमार बाउरी ने कहा कि पहले हमारे समाज मे बेटे के जन्म पर लोग बधाइयां देते थे। लोग बेटी के जन्म पर भी बधाई दें ऐसा ही उद्देश्य इस फ़िल्म का है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाएं चला रही है। सभी योजनाओं का उद्देश्य बेटी को आगे बढ़ना है।  मंत्री अमर कुमार बाउरी ने फ़िल्म निर्माण से जुड़े पूरे क्रू को शुभकामना देते हुए कहा कि आज जनमानस को जागरूक होने की जरूरत है। तभी समाज बेटियों के प्रति संवेदनशील बन सकता है।

 

इस मौके पर डॉक्टर गुरुजी कुमारस्वामी ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हमारे देश का इतिहास बताता है कि जिस देश की बेटियां मजबूत होती हैं, वह देश मजबूत होता है। आज हमारी आधी आबादी खुद को सुरक्षित महसूस नहीं कर रही है। इस विसंगति को दूर करने के लिए “बधाई हो बेटी हुई है” का निर्माण किया जा रहा है।

उन्होने कहा कि इस हिंदी फिल्म की पटकथा एक बेटी के इर्द-गिर्द घूमती है। जिसमें वह अपने समाज, अपने परिवार और अपने देश के लिए कैसे खुद को समर्पित करती है यह दर्शाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि आज देश की बेटियां खेल में मेडल ला रही है, सेना हो या फिर वैज्ञानिक बेटियां हर क्षेत्र में बढ़-चढ़कर काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि यह पहली बार होगा जब फ़िल्म के जरिये हम किन्नर समाज को बेटी होने पर बधाई देते हुए दिखाएंगे।

कार्यक्रम में आये कलाकार गजेंद्र चौहान ने कहा कि आज बेटी को जो सम्मान मिलना चाहिए वो नही मिल पा रहा है। हालांकि कुछ लोगों की मानसिकता बदली है लेकिन आज भी एक बड़ा तबका बेटियों को घर की दहलीज में ही रखना चाहती है। इसी मानसिकता को बदलने का प्रयास इस फ़िल्म के माध्यम से किया जा रहा है।

https://www.facebook.com/ZeeBiharJharkhand/videos/378321752887645/

Print Friendly, PDF & Email

Comments are closed.