Currently Browsing: News

AAKANKSHA SAKHARKAR WANTS TO HOLD THE FLAG HIGH IN BOLLYWODD TOO AFTER MARATHI FILMS

Today the digital revolution has created a unique space in the film industry where there is no distinction between the language, Small screen or for that matter the big screen at all. Actors from other languages and platforms are now entering Bollywood, including several actors from the South as well as the Marathi films. AAkanksha who has acted in Marathi  films , TV serials and ad films is now desirous of making her transition from Marathi to Hindi film Industry too in a big way.

Hailing from Nagpur, AAkanksha is settled in Mumbai for the last three years and used to take part in plays in school and college, besides working on the stage as well as ad films for four years. She has also acted in the Marathi film Bhala Manoos as well as played the lead opposite Chinmay Udgeerkar in the Marathi film Anjana. While in Nagpur, Aakanksha has acted  in over 100 plays and participated in street plays enacted for Women against crime. AAkanksha has also walked as a ramp model for ramps and modeled for water purifier as well as matrimonial ad, besides several promotional videos.

 

A Miss Nagpur Queen, Akanksha has also won  the Beauty Skin Crown at the Vardhman Fantasy event. Aakanksha has also emerged as one among the top 20 in Maharashtra Times Shrawan Queen contest in 2017. AAkanksha who has acted in Asa Sasar Surekh Bai aired on Colors is now acting in the TV serial Bheti Lage Jiva on air on Sony Marathi in the parallel lead of Swara and is happy with the response she received in the social media for her performance in the serial. “The day  I appear in an episode ion the serial, I get a lot of phone calls of appreciation but one the days when my episode is not telecast, my fans call me to tell me that they miss me. It’s a big compliment for me. the biggest advantage of a serial is that  it reaches each and every household in Maharashtra whereas  a film is watched not by many especially if people do not catch it up on the week of its release in the theater.”, says the 23 years old young girl.

AAkanksha’s focus right now is films and acting in Bollywood is her prime motto. Priyanka Chopra and Deepika Padukone are role models for AAkanksha who does not want to quit acting in Marathi films as Marathi is her mother tongue. “Whenever I feel the urge to do some spectacular feat, I always remember Priyanka Chopra as I am amazed by her and also seek inspiration from her journey from rags to riches in Bollywood. Besides Priyanka, I also admire Deepika Padukone and follow her too,” Akanksha signs off.

Alpino Health Foods prioritizes health awareness amongst women auto drivers with the launch of #noexcuses campaign this Women’s Day

India, March 2019: Its #noexcuses for the women auto drivers community in Thane, as Alpino Health Foods, a peanut butter brand that is centered around the idea of providing the healthiest and tastiest ready to eat spread in India, prioritizes health awareness amongst women this Women’s day.

Alpino Health Foods realised that for many women early morning healthcare is often neglected with various errands to run for the family. The brand hence conducted a campaign coined #noexcuses to bring awareness that health should be the key priority. Alpino Health Foods met with women auto rides of Thane to understand if breakfast constituted as an important meal of the day. The response was overwhelming as the brand realized most women drivers either neglect eating breakfast entirely or eat their breakfast of a very less nutritional value.

In the light of this concern, Alpino Health Foods decided to promote importance of health among these women educating them on the importance of the first meal of the day and prepared peanut butter sandwiches with brown bread using the Alpino Peanut Butter.

Community Head of Thane Women Auto Drivers, Anamika Bhalerav, says, “We really loved Alpino Peanut Butter. It is the first time that I have tried peanut butter, it is a new concept for us. We are always in a hurry in the morning trying to finish house chores and leaving for work, and in the chaos our breakfast suffers the most. But Alpino Peanut Butter is a good solution to this problem as it is very filling and will help us stay strong for the day ahead of us.”

Co-Founder of Alpino Health Foods, Mahatva Sheta, says, “This is the first campaign done by Alpino Health Foods and we chose Women’s Day because we wanted to empower Women as it is a tendency for a working woman to neglect their health while trying to take care of her family. So this campaign was mainly to promote Women’s Health and to educate them on how it is important to maintain their health. Peanut Butter is a great start to their healthy journey as it a good source of protein. Overall, it was a great experience to do a campaign with these Women Auto drivers.”

Every Woman is special in her own way, and there is no better day than Women’s Day, to commemorate them and help them take care of their health.

Kabir Sadanand Is Back With Virgin Woman Diaries Season-2

After the blockbuster Season -1 with more than 48 million views, Kabir Sadanand is back with Virgin Woman Diaries Season – 2. While the first season was a bold step that talked about a 18 year old trying to  loose her virginity, the second season produced by Frogs Unlimited in association with Lehren Networks, would focus more on changing dynamics in relationships while taking the story forward. The new season is full of clean humour, drama and suspense to target a wider audience.

  

Says Kabir Sadanand, “It was very clear from the onset we wanted to invest into good content and creating a new breed of creators for the online space . The first season has been a success story and season now is only going to take the show to the next level . There is humour everyone story with a twist and drama.”

Interestingly, while the web series has been shot on 4K, it is also worlds first web show that has been shot both on Vertical and Landscape formats.

The Vertical version of the series has premiered exclusively on the Lehren App today (25th Feb). The Landscape version will have a deferred release on Lehren and FrogsLehren’s Facebook pages and YouTube and channel.

Virgin Woman Diaries Season 2 stars Archita Agarwal Dhiraj Totlani, Nishant Shandilya, Mridanjali Rawal, Amit Behl, RJ Glen and Sumanto Roy.

Sneak peak of episode 1

 

SRK Music Opens Their New Regional Office In Patna

एसआरके म्‍यूजिक ने पटना में खोला क्षेत्रीय कार्यालय

मौके पर मशहूर अभिनेत्री चांदनी सिंह ने कहा – स्‍थानीय कलाकारों को मिलेगा मंच

पटना। बिहार में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। यहां अच्‍छे सिंगरों की भरमार है। लेकिन उनके साथ मुश्किल तब आती है, जब उनकी प्रतिभा दुनिया के समाने लाने के लिए कोई सही प्‍लेटफॉर्म नहीं मिलता है। इसके अलावा  उनके लिए मुंबई जाकर म्‍यूजिक रिलीज करना भी आसान नहीं होता है। इसलिए भोजपुरी सिने इंडस्‍ट्री की चर्चित म्‍यूजिक कंपनी एसआरके म्‍यूजिक ने अपना क्षेत्रिय कार्यालय का शुभारंभ राजधानी पटना के एग्‍जीबीशन रोड जुबैदा कांप्‍लेक्‍स में किया।

इस मौके पर एसआरके म्‍यूजिक के सीएमडी रौशन कुमार ने बताया कि मुंबई पहुंच कर एक अच्‍छी कंपनी से अपनी म्‍यूजिक रिलीज करवाने में लोगों को तकलीफ होती है । इसलिए हमने प्‍लान किया कि पटना में एसआरके म्‍यूजिक का एक ब्रांच खोलें, ताकि लोगों को सपोर्ट मिले और वे इस प्‍लेटफॉर्म को आसानी एक्‍ससे कर पाये। हमें लोगों का काफी फोन आता है और वे पूछते हैं कि इसका कोई ब्रांच है क्‍या। उन्‍होंने अश्‍लीलता को लेकर कहा कि हम उसका समर्थन नहीं करते हैं और सिंगरों से अपील करते हैं कि वे अच्‍छे गाने लेकर ही हमारे पास आयें। क्‍योंकि हम म्‍यूजिक इंडस्‍ट्री में ये मुकाम मेहनत से बनाई है। शारदा सिन्‍हा से लोगों को इंस्‍पायर्ड हो कर सिंगरों को अच्‍छे गाने गाने चाहिए। वे आज भी फेमस हैं। हमारी कोशिश रहती है कि अच्‍छे गाने को ही पब्लिक डोमेन में लाया जा सके।

वहीं, एसआरके म्‍यूजिक के ब्रांच की ओपनिंग के दौरान भोजपुरी फिल्‍म इंडस्‍ट्री की वायरल गर्ल चांदनी सिंह, अभय सिन्‍हा, सिंगर विजय राज यादव और प्रो. व साहित्‍यकार डॉ हीरा नंद सिंह  भी मौजूद रहे। दोनों ने एसआरके म्‍यूजिक की इस शुरूआत के लिए शुभकामनाएं दी। चांदनी ने इस मौके पर कहा कि एसआरके म्‍यूजिक की यह पहल सराहनीय है। बिहार में सिंगरों की कमी नहीं है, यह सोशल मीडिया के दौर में पता चलता है। लेकिन वे सिंगर अपनी प्रतिभा को दुनिया के सामने सुनियोजित तरीके से लेकर आने में असमर्थ हैं। उन्‍हें उनकी प्रतिभा को प्रदर्शित करने के लिए कोई मंच नहीं मिलता है। इस गैप को भरने के लिए ही आज रौशन कुमार ने एसआरके म्‍यूजिक का एक ब्रांच बिहार की राजधानी पटना में खोला है। मैं उनको बधाई देती हूं कि उन्‍होंने स्‍थानीय कलाकारों के दर्द को समझा और उन्‍हें मौका देने के लिए एक बेहतर मंच प्रदान कर रहे हैं।

Aishwarya Rai Bachchan and Farhan Akhtar Entertained Audience At Lalkar Musical Concert

 ऐश्‍वर्या राय बच्‍चन और फरहान अख्‍तर ने ललकार म्‍यूजिकल कंसर्ट में बांधा समां    

महिलाओं को सक्षम, सशक्त और रूपांतरित करने के संकल्प को समर्पित एक म्‍यूजिक इवनिंग में बॉलीवुड सितारों ने चार चांद लगा दी। मौका था मुंबई के बांद्रा फोर्ट एम्फीथिएटर में बहुप्रतीक्षित ललकार कॉन्सर्ट का, जिसमें सिंगर-एक्‍टर-प्रोड्यूसर फरहान अख्तर के साथ शान, शंकर-एहसान-लॉय, आईडीवा गर्ल्स कुशा कपिला, डॉली सिंह, मेज़बान शिबानी दांडेकर और गौरव कपूर एक भव्‍य म्‍यूजिकल परफॉर्मेंस दी। इस दौरान ऐश्वर्या राय बच्चन ने जावेद अख्तर द्वारा लिखी गई कविता मर्द का पाठ किया, जिसने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। यह कविता बुराई को मिटाते हुए एक आदमी होने का सही अर्थ याद दिलाता है।

पॉपुलर फाउंडेशन ऑफ़ इंडिया, फरहान अख्तर की मर्द और जाने माने फ़िल्म निर्माता फ़िरोज़ अब्बास ख़ान के बीच एक अनोखे सहयोग से बहुप्रतीक्षित ललकार कॉन्सर्ट को लेकर खुद फरहान ने कहा कि हमें लैंगिक समानता के बारे में युवा पीढ़ियों को शिक्षित करने की आवश्यकता है। तभी हम उनसे अपेक्षित बदलाव की उम्मीद कर सकते हैं। ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ सफलतापूर्वक एक प्रभावी उपकरण के रूप में इस बदलाव को शुरू करने में कामयाब रहा है। दर्शकों द्वारा दिखाए गए उत्साह से यह साबित होता है कि अब अधिक से अधिक लोग लिंग भेद के खिलाफ कदम बढ़ाने के लिए तैयार हैं।

पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया  की कार्यकारी निदेशक पूनम मुत्तरेजा के अनुसार ने कहा कि ललकार हर उस आवाज को एकजुट करने का प्रयास है, जो महिलाओं को सक्षम, सशक्त और रूपान्तरित करना चाहती है। महिलाओं को यह बताना जरूरी है कि वह कुछ भी कर सकती है। शो के निर्माता फिरोज अब्बास खान ने कहा कि ललकार लोगों से ऐसे पुराने मिथकों को चुनौती देने का आग्रह करता हैं, जो लैंगिक भेदभाव को बढ़ावा देते हैं। व्यक्ति के साथ ही बदलाव की शुरुआत होती है। संगीत एक एकीकृत तत्व है जो विभिन्न पृष्ठभूमि के लोगों को जोड़ने में मदद करता है।

आपको बता दें कि ललकार म्‍यूजिक कंसर्ट के जरिये पीएफआई के लोकप्रिय एडुटेनमेंट शो ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ के संदेश को भी आगे बढ़ाया गया। इस शो की राष्ट्रीय प्रसारक दूरदर्शन पर अपने बहुप्रतीक्षित तीसरे सीजन के साथ वापसी हो चुकी है। अभिनेता फरहान अख्तर दूसरे सीज़न से इस शो से जुड़े हुए हैं। ‘मैं कुछ भी कर सकती हूं’ एक युवा डॉक्टर स्नेहा माथुर की प्रेरक यात्रा के इर्द-गिर्द घूमती है, जो मुंबई में अपने आकर्षक कैरियर को छोड़ कर अपने गांव में काम करने का फैसला करती है।

पॉपुलेशन फाउंडॆशन ऑफ इंडिया, मैं कुछ भी कर सकती हूं के तीसरे सीज़न का निर्माण करने के लिए आरईसी फाउंडेशन और बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन द्वारा समर्थित है। वर्तमान में इसे दूरदर्शन पर प्रसारित किया जा रहा है और यूट्यूब पर स्ट्रीम किया जा रहा है।

Producer Shyam Singhaniya’s Film Maritime Mumbai An Odyssey Special Sceening And Press Conference

Exclusive News by Kashif Zaidi

निर्माता श्याम सिंघानिया की फिल्म ‘ मैरीटाइम मुंबई एन ओडिसी ‘ के स्पेशल शो और शानदार प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन

फिल्म “मैरीटाइम मुंबई एन ओडिसी” की एक प्रेस कॉफ्रेंस का आयोजन मुंबई के द व्यू में किया गया जहां फिल्म के निर्माता निर्देशक और लेखक सहित मीडिया की भारी भीड़ मौजूद थी।

फिल्म के निर्माता श्याम आर सिंघानिया और पद्म सिंघानिया हैं जबकि इसके निर्देशक साकेत एस बहल हैं। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में निर्माता श्याम आर सिंघानिया, निर्देशक साकेत एस बहल, वाईस एडमिरल गिरीश लूथरा (रिटायर्ड) कमांडर इन चीफ वेस्टर्न नवल कमांड और लेखक तनमय मोहन मीडिया से रूबरू हुए और अपनी इस डॉक्यूमेंट्री फिल्म के बारे में बताया। इस मौके पर गेस्ट के रूप में सुनील पाल और मॉडल पम्मी जैसी कई शख्सियत मौजूद थीं। आपको बता दें कि यहां इंडियन नेवी की टीम के भी कुछ लोग उपस्थित थे।

सबसे पहले इस बेहतरीन फिल्म को दिखाया गया जिसका कैमरा वर्क, रिसर्च वर्क देख कर लोगों की आंखें खुली की खुली रह गईं।

फिल्म मैरीटाइम मुंबई एन ओडिसी के टाइटल के बारे में स्पष्टीकरण करते हुए फिल्म के लेखक तनमय मोहन ने कहा कि मैरीटाइम समुन्द्र से रिलेटेड ऐक्टिविटी को कहते हैं जबकि ओडिसी का मतलब गाथा होता है अर्थात यह फिल्म मुंबई की गाथा बयान करती है। लगभग 500 वर्षों के मुंबई के इतिहास को इस डॉक्यूमेंट्री फिल्म में समाने का प्रयास किया गया है। यह एक बेहद मनोरंजक और शिक्षाप्रद फिल्म है जिसमें मुंबई शहर की हिस्ट्री पेश की गई है।  यह फिल्म नेवी डिपार्टमेंट द्वारा प्रोमोटेड फिल्म है, उनकी ही छत्र छाया में बनी है। मुंबई के कोलाबा में जहां नेवल डॉकयार्ड है वहीं से मुंबई की हिस्ट्री शुरू होती है। जैसे मुंबई के बांद्रा इलाके को पहले सॉल्सेट आइलैंड के नाम से जाना जाता था। यह फिल्म दरअसल मुंबई की कहानी कहती है। यह लोगों के लिए बड़ी हैरान करने वाली कुछ सच्चाइयां सामने लाती है। मुंबई में अगर कोई बड़ी बिल्डिंग है तो उसके पीछे की कहानी को दिखाती है यह फिल्म।

यह फिल्म मुंबई के नाम पड़ने से लेकर यहां के विकास तक के सफ़र को बड़े बेहतरीन ढंग से पेश करती है। डॉक्यूमेंट्री फिल्म में जहां विजुअल इफेक्ट्स हैं वहीं तथ्यों को बड़ी गहराई और सफाई से बयां किया गया है। बीच बीच में कुछ इतिहाकारों और प्रोफेसर के अलावा नेवी से जुड़े कुछ अधिकारियों की बातें बड़ी ज्ञानवर्धक होती हैं।

फिल्म के पीआर की ज़िम्मेदारी लिड माईन्स मीडिया ने निभाई है।

« Older Entries