Shooting of Bollywood’s Inspirational Story The Destiny (Kalachakra)  Starts In Shillong

Shooting of Bollywood’s Inspirational Story The Destiny (Kalachakra) Starts In Shillong

शिलौंग में बॉलीवुड की इंस्पेरेशनल स्टोरी  “द डेस्टिनी कालचक्र” की शूटिंग स्टार्ट

बीते दिनों बॉलीवुड ने कई बायोपिक दिए, जिसे लोगों ने पसंद भी किया। इसी सीरीज में अब एक और मोटिवेशनल स्टोरी  आने वाली है  “द डेस्टिनी कालचक्र”, जिसकी शूटिंग पिछले कई दिनों से मुंबई से दूर शिलौंग की खूबसूरत वादियों में हो रही है। बुधवार को फ़िल्म की शूटिंग की शुरुआत ओपेनिंग क़्लैप मेघालय के हेल्थ मिनिस्टर श्री ए एल हेक ने दिया और पुरी शूटिंग के दौरान मौजूद भी रहे । इस विषय मे विस्तृत जानकारी देने हेतु गुरुवार को शिलांग के एक होटल में प्रेस वार्ता सम्मेलन का आयोजन किया गया । फ़िल्म की कहानी निर्माता प्रोसेंजीत महापात्रा की ज़िंदगी पर बेस्ड है, जो काफ़ी सारी मुश्किलों का सामना करने के बाद एक सफल बिज़नस मैन बने और अभी इस फ़िल्म को राजेश गोयनका के साथ मिलकर प्रोड्यूस भी कर रहे हैं। फ़िल्म के निर्देशक आकाश सिंह है। फ़िल्म में साहिल कोहली, सृजीता घोष लीड रोल में हैं और किरण कुमार, प्रमोद माउथो, अरुण बक्शी, सतीश सोनकर, मुशताक ख़ान, अजीत पंडित,श्रुतिका गावकर,अक्षय सिह,लूसी,सुरेन्द्र ठाकुर, रमाकांत सिंह इत्यादि भी महत्वपूर्ण किरदार में नज़र आएंगे। फ़िल्म के पीआरओ रंजन सिन्हा व सर्वेश कश्यप हैं।

  

प्रेस वार्ता के दौरान “द डेस्टिनी कालचक्र” के निर्देशक आकाश सिंह ने कहा कि  ज़िंदगी में हर इंसान कभी न कभी मुश्किल दौर से गुज़रता हैं, लेकिन यह ज़िंदगी उसको सलाम करती है जो मुश्किलों और मुसीबत भरे हालात से लड़ता है और जीतता है। हिन्दी फिल्म द डेस्टिनी कालचक्र की कहानी भी एक ऐसे ही व्यक्ति की ज़िंदगी मे आए उतार चढ़ाव पर आधारित है जिसने बड़ी मुश्किलें को पार कर सफलता अर्जित की है। इसी स्टोरी को रियल टच देने के लिए हम शिलौंग में फ़िल्म की शूटिंग कर रहे हैं। यहाँ के लोकेशंस अद्भुत हैं और यहाँ के लोग काफ़ी सपोर्टिव।

“द डेस्टिनी कालचक्र” का निर्माण वी सी एम एंटरटेनमेंट के बैनर तले किया जा रहा है। प्रेस वार्ता के सम्बोधन में निर्माता प्रोसेंजीत महापात्रा बताते हैं कि वैसे तो बॉलीवुड में कई बायोपिक बनी है और कई बन भी रही हैं मगर यह फ़िल्म तमाम बायोपिक फिल्मो से अलग  है। यह एक सर्वाइवल की कहानी है जो बड़ा ही मोटिवेशनल है। दूसरे लोगों के लिए निर्माता की ज़िंदगी का यह संघर्ष और फर्श से अर्श तक पहुंचने की रियल कहानी प्रेरणा देने वाली है। फ़िल्म के कलाकारों ने भी निर्माता के जोश और जज़्बे को सलाम किया कि उन्होंने जीवन के कठिन लम्हो में भी हिम्मत और हौसले की डोर नही छोड़ी बल्कि लगातार मेहनत करते रहे और अंततः सफलता उन्हें प्राप्त हुई और अंत मे निर्माता प्रोसेंजीत महापत्रा ने सिलौंग के प्रशासन को भी धन्यवाद दिया जिनके सपोर्ट के बिना यहाँ शूटिंग करना सम्भव नहीं था।

 

——-Sarvesh Kashyaph  (p.r.o)

Print Friendly, PDF & Email

Comments are closed.